जानिए उस नर्स के बारे में जिनकी याद में मनाया जाता अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस, पढ़िये खबर|NewsRedbull

Picture Courtesy From Social Media

By : News RedBull | Published On: May 12, 2020 |
438


जानिए उस नर्स के बारे में जिनकी याद में मनाया जाता अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस, पढ़िये खबर|NewsRedbull

NewsRedbull Online Desk कोरोना से आज पूरी दुनिया में प्रभावित है। डॉक्टर अपनी जिम्मेदारियों को उठाते हुए मरीजों के जीवन की रक्षा कर रहें हैं तो वहीं चिकित्सा क्षेत्र में रीढ़ कही जाने वाली नर्सों का योगदान भी उतना ही बड़ा है।

International Nurses Day 2020: क्यों मनाया जाता है ...

12 मई का दिन नर्सों का ही दिन माना गया है। हर साल की तरह दुनिया में आज अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस मनाया जा रहा है.

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस: कोरोना काल ...

मरीजों की देखभाल और सेवा के जरिए नया जीवनदान देनेवाली नर्सों की भूमिका से इंकार नहीं किया जा सकता. डॉक्टर के बाद मरीजों के प्रति उनका विशेष लगाव ही उन्हें बिस्तर से जल्द उठने में मदद करता है.

इसलिए आज का दिन उनके सम्मान में विशेष तौर पर मनाया जाता है. मगर आप जानते हैं किसकी याद में इस दिवस को मनाया जाता है ? इस दिन के पीछे का इतिहास क्या है ?

World Health Day 2020: कोरोना संकट के बीच WHO ने ...

 

12 मई को दुनिया नर्सिंग की संस्थापक फ्लोरेंस नाइटिंगेल को याद करती है. उन्होंने क्रीमिया के युद्ध के दौरान अहम भूमिका निभाई थी. एक मोर्चे पर उन्होंने कई महिलाओं को नर्स की ट्रेनिंग दी तो दूसरी तरफ सैनिकों का इलाज भी किया. इस तरह अपनी सेवा भाव के जरिए विक्टोरियन संस्कृति में उन्होंने अमिट छाप छोड़ी. उन्हें 'लेडी विद द लैंप' के नाम से पहचान मिली.

International nurses day: What is its history ?

'लेडी विद द लैंप'

Special Story On International Nurse Day 2017 Hindi News ...

 

फ्लोरेंस नाइटिंगेल का जन्म ब्रिटि‍श परिवार में 12 मई 1820 को हुआ था. उन्होंने 1860 में सेंट टॉमस अस्पताल और नर्सों के लिए नाइटिंगेल प्रशिक्षण स्कू‍ल की स्थापना कर ख्याति बटोरी. इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ नर्स (ICN) 1965 से अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस मनाता आ रहा है.

इस बार अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस 2020 की थीम ICN की वेबसाइट के मुताबिक, 'विश्व स्वास्थ्य के लिए नर्सिंग है' रखा गया है. महामारी  काल में दिग्गज नर्सों के समर्पण भाव को याद कर रहे हैं.

भारत में भी राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगल अवार्ड

Three states of the country where Corona crossed 1 thousand ...

देश में हर साल 12 मई को राष्‍ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगल पुरस्‍कार दिया जाता है। इसकी शुरुआत 1973 में भारत सरकार के परिवार एवं कल्‍याण मंत्रालय ने की। पुरस्कार से नर्सों की सराहनीय सेवा को मान्‍यता प्रदान किया जाता है। अब तक कुल 250 के करीब नर्सों को इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

पुरस्कार हर साल देश के राष्ट्रपति द्वारा दिया जाता है। फ्लोरेंस नाइटिंगल पुरस्‍कार में 50 हज़ार रुपए नकद, एक प्रशस्ति पत्र और मेडल दिया जाता है।

Related News

Like Us

HEADLINES

भयानक अंधविश्वाश: गांव को बचाने के लिए शिवमंदिर में चढ़ा दी अपनी जीभ,जानिए कारण|NewsRedbull | Social Media की नई सनसनी बनी साउथ की यह अभिनेत्री, लोग देख रहे हैं जी भर के PHOTOS! NewsRedbull | कानपुर में खूनी खेल: रंगेहाथ पकडे जाने पर प्रेमी संग किया भाई मो.जफर का कत्ल,रची झूठी कहानी|NewsRedbull | दिन दहाड़े LIC की कैश वैन पर गोलियों की बौछार:लाखों की लूट,जानिए कितने हुए घायल|UP| | आपके SIM के साथ ऐसे हो सिम स्वैप:कस्टमर केयर बनकर अकाउंट से उड़ाए लाखों रुपये|NewsRedbull |