एप ने उभरते हुए इतनी बड़ी संख्या में नए हॉटस्पॉट को लेकर सरकार को किया सचेत |NewsRedBull

Picture Courtesy From Social Media

By : News RedBull | Published On: May 10, 2020 |
424


एप ने उभरते हुए इतनी बड़ी संख्या में नए हॉटस्पॉट को लेकर सरकार को किया सचेत |NewsRedBull

नई दिल्ली। Online DESk // NewsRedbull// कोरोना संक्रमितों पर नजर रखने एवं मरीजों को ट्रैक करने के लिए मोदी सरकार की तरफ से लांच किए गया आरोग्य सेतु एप सरकार के लिए बहुत ही पॉवफुल साबित हो रहा है । आरोग्य सेतु एप ने सरकार को देशभर के 650 कोरोना के हॉटस्‍पॉट को लेकर सचेत किया हैं। इतना ही नहीं इस ऐप ने 300 उभरते हॉटस्पॉट को लेकर भी सरकार को सावधान किया। नहीं तो चूक हो सकती थी।

नए हॉटस्‍फपाफट बनने से भी रोकता हैं

ये ऐप हॉटस्‍पाफट की सटीक भविष्‍यवाणी करता है

नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने बताया कि 13 से 20 अप्रैल के बीच महाराष्ट्र में आरोग्य सेतु ने 18 जिलों में 60 हॉटस्पॉट की पहचान की तो देशभर में इसने सब-पोस्ट ऑफिस लेवल पर 130 हॉटस्पॉट की पहचान की। 3 से 17 दिन के बाद गृह मंत्रालय ने ऐप द्वारा पहचान किए गए हॉटस्‍पाट को वास्तविक हॉटस्पॉट घोषित किया। इस ऐप ने सरकार को यह जानने में मदद की कि किसकी जांच की जाए और कहां और अधिक जांच की जाए.

 6.9 करोड़ लोगों ने सेल्फ असेसमेंट टेस्ट किया

6.9 करोड़ लोगों ने सेल्फ असेसमेंट टेस्ट किया

अमिताभ कांत ने ये भी बताया कि अब तक 6.9 करोड़ लोगों ने सेल्फ असेसमेंट टेस्ट किया है। 34 लाख लोगों ने एक या तीन से अधिक लक्षण दिखने पर खुद को बीमार बताया है। दो या दो से अधिक लक्षणों वाले लोगों तक हेल्थकेयर वर्कर्स की टीम पहुंची। 70 हेल्थकेयर वर्कर्स की टीम 6.50 लाख लोगों तक पहुंच चुकी है जिनमें दो या दो से अधिक लक्षण थे। 16 हजार से अधिक लोगों ने डॉक्टरों से टेली-कंस्लटेशन लिया है।

नीति आयोग के सीईओ ने बताई ये बात

नीति आयोग के सीईओ ने बताई ये बात

यह जानकारी नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने दी। मालूम हो कि 2 अप्रैल को आरोग्य सेतु की लॉन्चिंग के बाद से 9.6 करोड़ लोग इस एप को डाउनलोड कर चुके हैं। यह दुनिया में सबसे तेजी से 5 करोड़ डाउनलोड होने वाला एप बन चुका है। आरोग्य सेतु एप ने सरकार को कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ने में दो मामलों में बड़ी मदद की हैं जिसमें पहला कि किस व्‍यक्ति की कोविड 19 की जांच हो और दूसरा कहां और किस इलाके में अधिक जांच होनी चाहिए।

Aarogya Setu App: What is it, its benefits, how to download ...
नए हॉटस्‍फपाफट बनने से भी रोकता हैं

नीति आयोग के सीईओ ने कहा आरोग्य ऐप हॉट स्‍पॉट की बि‍लकुल सटीक भविष्‍यवाणी करता है और इस तरह से यह नए हॉटस्‍फपाफट बनने से भी रोकता हैं यह कोरोना वायरस के फैलाव के स्थान, दिशा और घनत्व को लेकर प्रभावशाली और बड़ी ही सूक्ष्म जानकारी देता है। एंड्रॉयड और आईफोन दोनों तरह के स्‍मार्टफोन पर इसे डाउनलोड किया जा सकता है।

Aarogya Setu: Coronavirus tracking app crosses a crore download on ...

यह खास एप आसपास मौजूद कोरोना पॉजिटिव लोगों के बारे में पता लगाने में मदद करेगा. आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने वाले 12,500 यूजर्स कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। ब्लूटूथ आधारित टेक्नॉलजी से 60 हजार से अधिक लोगों को अलर्ट किया है। इसने 8,500 यूजर्स को हाई रिस्क में बताया और इनमें से 23 पर्सेंट कोरोना संक्रमित पाए गए। आरोग्य सेतु एप अभी 12 भारतीय भाषाओं में है और जल्द ही इसे 22 भाषाओं में उपलब्ध कराया जाएगा।

Related News

Like Us

HEADLINES

जानिए किस कारण बौखलाया है चीन, कहाँ पर दोनों और हो रहा गोला बारूद का जमावड़ा,पढ़िए खबर|NewsRedbull | एकता कपूर पर FIR से बॉलीवुड में मचा हड़कंप: जानिये किसने कहाँ और क्यों कराई है !NewsRedbull | भयानक अंधविश्वाश: गांव को बचाने के लिए शिवमंदिर में चढ़ा दी अपनी जीभ,जानिए कारण|NewsRedbull | Social Media की नई सनसनी बनी साउथ की यह अभिनेत्री, लोग देख रहे हैं जी भर के PHOTOS! NewsRedbull | कानपुर में खूनी खेल: रंगेहाथ पकडे जाने पर प्रेमी संग किया भाई मो.जफर का कत्ल,रची झूठी कहानी|NewsRedbull |