'कर्ज़ को बट्टे खाते में डालने का क्या अर्थ है,उम्मीद है राहुल गांधी ने मनमोहन से समझा जरूर होगा' |NewsRedbull

Picture Courtesy From Social Media

By : News RedBull | Published On: Apr 29, 2020 |
613


'कर्ज़ को बट्टे खाते में डालने का क्या अर्थ है,उम्मीद है राहुल गांधी ने मनमोहन से समझा जरूर होगा' |NewsRedbull

नई दिल्ली: Online Desk NewsRedbull// मोदी सरकार के ऊपर विजय माल्या, मेहुल चोकसी और नीरव मोदी का कर्ज माफ करने के कांग्रेस के आरोपों पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने पलटवार किया है.

बैंक कर्ज़ को बट्टे खाते में डालने का क्या अर्थ होता है, उम्मीद है, यह राहुल गांधी ने डॉ. मनमोहन सिंह से समझा जरूर होगा : निर्मला सीतारमण

उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी जवाब देते हुए कहा कि ''उन्हें इस बात के बारे में विचार करना चाहिए कि क्यों वह सिस्टम की सफाई में कोई रचानात्मक भूमिका नहीं निभा सके. न तो सत्ता में रहते हुए और न विपक्ष में रहते हुए उन्होंने भ्रष्टाचार को और पक्षपात को रोकने में कोई प्रतिबद्धता दिखाए पाए.''

वित्त मंत्री ने आगे कहा कि इससे पहले 18 नवंबर 2019 को लोकसभा में पूछे गए एक सवाल के जवाब में बैंकों का पैसा गबन करने वालों के नाम सरकार की ओर से दिए जा चुके हैं.

लोकसभा में राहुल गांधी के 304 नंबर सवाल के जवाब में भी बैकों का पैसा गबन करने वाले लोगों के नाम, पैसा और किन लोगों को नाम बट्टे खाते में (written off) में डाला गया है, सारी जानकारी दी जा चुकी है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि मोदी सरकार ही बैंकों का पैसा गबन

करने वालों से वसूली कर रही

Rahul Gandhi, Nirmala Sitharaman clash over her claim on HAL ...

 जिसमें नीरव मोदी, मेहुल चोस्की और विजय माल्या से 18332.7 रुपया वसूला जा चुका है. 9967 वसूली के निवेदन, 3315 एफआईआर फगटेव एमेंडमेंट एक्ट के तहत दर्ज हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने बैंकों का पैसा गबन करने वालों, बैड लोन, और बट्टा खाता (Write-off)के नाम  पर बरगलाने की कोशिश की है.

साल 2009-10 और 2013-14 के बीच जब कांग्रेस की सरकार थी तो  बैंकों ने 145226 करोड़ रुपये बट्टे खाते में डाला था. उम्मीद है कि राहुल गांधी ने डॉ. मनमोहन सिंह से बट्टा खाता क्या होता है इसके बारे में जरूर समझा होगा. 

वित्त मंत्री ने कहा कि नीरव मोदी मामले में 2387 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति जब्त की जा चुकी है और वह अभी यूके की जेल में है. मेहुल चोक्सी के केस में 1936.95 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति जब्त की जा चुकी है. उसके खिलाफ रेड कार्नर नोटिस जारी किया जा चुका है. एंटीगुआ से उसके प्रत्यर्पण के लिए अर्जी दी जा चुकी है. उसको भगोड़ा घोषित करने के लिए कोर्ट में सुनवाई चल रही है.

विजय माल्या मामले में 8040 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की जा चुकी है साथ ही 1693 करोड़ रुपये के शेयर भी सील किए गए हैं. उसको भगोड़ा घोषित किया जा चुका है. उसको प्रत्यर्पण की कोशिश की जा रही है और यूके हाईकोर्ट ने उस पर मुहर लगा दी है.

TWEET

Nirmala Sitharaman@nsitharaman

 · 12h

Shri @RahulGandhi MP (LS) and Shri @rssurjewala spokesperson of @INCIndia have attempted to mislead people in a brazen manner. Typical to @INCIndia, they resort to sensationalising facts by taking them out of context. In the following tweets wish to respond to the issues raised.

Nirmala Sitharaman@nsitharaman

Today’s attempt of @INCIndia leaders is to mislead on wilful defaulters, bad loans & write-offs. Between 2009-10 & 2013-14, Scheduled Commercial Banks had written off Rs.145226.00 crores. Wished Shri.@RahulGandhi consulted Dr. Manmohan Singh on what this writing-off was about.

Related News

Like Us

HEADLINES

भारतीय क्रिकेटर ऋषभ पंत की बहन पर इस युवक ने लगाए कई गंभीर आरोप, मांगा इंसाफ… | तब्लीगी जमात के 2200 विदेशियों पर गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला|पढ़िये खबर,NewsRedbull | ब्रेकिंग: सुप्रीम कोर्ट में चिदंबरम की बेल को चुनौती, CBI की याचिका पर आया ये फैसला,जानें|NewsRedbull | नहीं रहे हिट भोजपुरी गाने रिंकिया के पापा के म्यूजिक डायरेक्टर,जानिए कब कहाँ और कैसे|NewsRedbull | Mastram में बोल्ड सीन्स देने वाली भोजपुरी एक्ट्रेस रानी चटर्जी को इस वजह से नहीं आई नींद!NewsRedbull |