UPWJU के पूर्व अध्य्क्ष ने खोला मोर्चा: मीडियाकर्मी घोषित किये जाएँ,पढिये पूरी खबर |NewsRedbull

Picture Courtesy From Social Media:

By : News RedBull | Published On: Apr 14, 2020 |
1061


UPWJU के पूर्व अध्य्क्ष ने खोला मोर्चा: मीडियाकर्मी घोषित किये जाएँ,पढिये पूरी खबर |NewsRedbull

Kanpur: पहले पत्रकार, जिन्हें सताई बिरादरों की फिक्र 
वरिष्ठ पत्रकार विष्णु त्रिपाठी ने 11 अप्रैल से ट्विटर पर मुहिम छेड़ रखी है मीडियाकर्मियों का भी जीवन बीमा कराने के संबंध में। सबसे पहले उन्होंने ही प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को पत्र ट्वीट कर मांग की। उन्होंने कई प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों को पत्र ट्वीट किया है।

Books by Vishnu Tripathi - Prabhat Prakashan

लाल स्याही – लाल स्याही

पत्रकार भी कोरोना वारियर्स है पत्रकारों के परिवारों के बारे में भी सोंचिए सरकार

कोरोना के खतरे के बीच रिपोर्टिंग कर कोने कोने की खबर देशवासियो तक पहुँचा रहे पत्रकारों को कोरोना वारियर्स की लिस्ट में शामिल न करना दुखद एवं पत्रकारों का मनोबल तोड़ने वाला कदम है।

सरकार द्वारा कोरोना वारियर्स के लिए 50 लाख का सुरक्षा बीमा किये जाने का फैसला स्वागत योग्य है परंतु वारियर्स की लिस्ट में पत्रकारों का ज़िक्र न होना अत्यंत दुखद है।

कोरोना वायरस के खतरे के बीच जिस तरह से डॉक्टर, पुलिस, सफाई कर्मी जिस तरह से अपनी जान जोखिम में डाल कर अपनी ज़िम्मेदारी निभा रहे है वो सराहनीय है उन्हें सम्मान और सुरक्षा उपकरण के साथ ही सुरक्षा बीमा मिलना ही चाहिए।

लेकिन यहां अफसोस कि बात ये है कि संसाधन विहीन होकर भी कोरोना वायरस के खतरे के बीच पत्रकारिता के दायित्वों का पूरी ईमानदारी के साथ निर्वाहन करने वाले पत्रकारों को कोरोना वारियर्स की लिस्ट में नही जोड़ा गया।

लखनऊ की ही अगर बात करे तो शनिवार को एक प्राइवेट कंपनी द्वारा लखनऊ पुलिस कर्मियों के लिए 10 हज़ार मास्क दिए गए एक प्राइवेट बैंक ने लखनऊ पुलिस के लिए 4 क्विंटल सेनेटाइजर उपलब्ध कराया।

पुलिस , डाक्टर, सफाई कर्मी कोरोना से लड़ने वाले ऐसे योद्धा है जिन्हें सरकार से पहले ही वेतन मिल रहा है अब इस वैश्विक महामारी के दौरान अन्य सुविधाएं उपलब्ध करा कर उनके मनोबल को बढ़ाना अत्यंत सराहनीय है।

परन्तु पत्रकार के परिवार की न तो अभी तक सरकार ने कोई सुध ली और न ही किसी प्राइवेट संस्था ने भले ही 50 लाख का बीमा न किया जाए लेकिन दिन रात मेहनत कर रहे मान्यता प्राप्त एवं गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारों को कोरोना वारियर्स की लिस्ट में शामिल कर उन्हें कुछ सुविधाए तो सरकार द्वारा उपलब्ध ही कराई जा सकती है।

सरकार हम पत्रकार भी कोरोना वारियर्स है हम भी अपनी ज़िम्मेदारिया निभा रहे है हमे भूख लगती है हमारे भी परिवार है जिन्हें हमारे बाद सहारे की ज़रूरत है।

Related News

Like Us

HEADLINES

एकता कपूर पर FIR से बॉलीवुड में मचा हड़कंप: जानिये किसने कहाँ और क्यों कराई है !NewsRedbull | भयानक अंधविश्वाश: गांव को बचाने के लिए शिवमंदिर में चढ़ा दी अपनी जीभ,जानिए कारण|NewsRedbull | Social Media की नई सनसनी बनी साउथ की यह अभिनेत्री, लोग देख रहे हैं जी भर के PHOTOS! NewsRedbull | कानपुर में खूनी खेल: रंगेहाथ पकडे जाने पर प्रेमी संग किया भाई मो.जफर का कत्ल,रची झूठी कहानी|NewsRedbull | दिन दहाड़े LIC की कैश वैन पर गोलियों की बौछार:लाखों की लूट,जानिए कितने हुए घायल|UP| |