गुजराती गर्ल दूसरों को दे रही ​जीवन, कहा: अभी जो सिचुएशन है जल्द मर सकती हूं।NewsRedbull

Picture courtesy from social media

By : News RedBull | Published On: Jan 11, 2020 |
487


गुजराती गर्ल दूसरों को दे रही ​जीवन, कहा: अभी जो सिचुएशन है जल्द मर सकती हूं।NewsRedbull

सूरत. गुजरात में सूरत की रहने वाली 27 साल की एक कैंसर पीड़ित महिला 30 हजार से ज्यादा पेड़-पौधे लगा चुकी हैं। यहां श्रुचि वडालिया को कुछ ही माह पहले पता चला कि, वे ब्रेन ट्यूमर की शिकार हैं।

डॉक्टरों ने जांच के बाद उन्हें बताया कि ब्रेन ट्यूमर अंतिम स्टेज में पहुंच गया है। यानी, वे बेहद मुश्किलात में जी रही हैं।

यह जानने के बाद भी श्रुचि वडालिया अपने पथ से डिगी नहीं, बल्कि रोज कहीं न कहीं पेड़ लगाती रहीं।

श्रुचि वडालिया के मुताबिक, ​बीते 2 साल से वह पेड़ लगा रही हैं। पर्यावरण को बचाने के लिए उन्होंने बाकायदा एक कैंपेन की भी शुरूआत कराई है। खुद मृत्यु के खतरे से जूझ रही हैं, लेकिन दूसरों के लिए एक बेहतर वातावरण देना चाहती हैं।

श्रुचि कहती हैं, वायु प्रदूषण की वजह से भी लोग कई गंभीर बीमारियों का शिकार होते हैं। ऐसे में ये जरूरी है कि हम पर्यावरण की बेहतरी के लिए कुछ करें। पेड़-पौधे लगाएं और लोगों को जागरुक करें।

श्रुचि कहती हैं, 'अभी मेरी जो सिचुएशन है, जल्द मर भी सकती हूं। लेकिन मैं ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाकर लोगों की सांसों में जिंदा रहना चाहती हूं।'

यह अनुभव किया है कि मेरी बीमारी में भी वायु प्रदूषण बड़ी वजह रही, जिसके चलते कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का शिकार होना पड़ा। अ

हम ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाए जाएं तो इस तरह की खतरनाक बीमारियों से दूसरी जिंदगियों को बचाया जा सकता है।'

Related News

Like Us

HEADLINES

ब्रेकिंग: शरजील गिरफ्तार, बदला था अपना हुलिया, जानिये कहाँ से दिल्ली क्राइम ब्रांच ने पकड़ा |NewsRedbull | शाहीनबाग: जानिए हाईकोर्ट ने क्या दिया आदेश, वाहनों की आवाजाही शुरू करने की मांग पर | जानिए अब तक कितने प्‍लेन बने मिसाइल का निशाना, गई कितने मासूमों की जान | NewsRedbull | गाजियाबाद: बदमाशों से लूटपाट विरोध, दिन दहाड़े महिला को... पढ़िये ख़बर }NewsRedbull | इस यूनिवर्सिटी में शुरू हुआ CAA और अनुच्छेद 370 पर जागरूकता कोर्स, जानिए डिटेल|NewsRedbull |