कमलेश तिवारी मर्डर केस: एक कॉल से ऐसे पकड़े गए, पढ़िए ख़बर | NewsRedbull

Picture courtesy From Social Media

By : News RedBull | Published On: Oct 23, 2019 |
487


कमलेश तिवारी मर्डर केस: एक कॉल से ऐसे पकड़े गए, पढ़िए ख़बर  | NewsRedbull

नई दिल्ली.  गुजरात (Gujarat) और यूपी (UP) एटीएस (ATS) के संयुक्त अभियान में हिन्‍दू समाज पार्टी से जुड़े कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की हत्‍या करने वाले मुख्‍य आरोपी पकड़े जा चुके हैं. मंगलवार की रात उन्हें गुजरात-राजस्थान (Rajasthan) बॉर्डर (Border) के पास से गिरफ्तार किया गया है.

एटीएस का कहना है कि पिछले तकरीबन डेढ़ साल से सभी आरोपी मोबाइल फोन (Mobile Phone) रखे बिना नए-नए सिम से बात करते थे. यहां तक कि ये राह चलते लोगों के मोबाइल से भी बात करते थे.

कमलेश तिवारी हत्‍याकांड: एक कॉल से ऐसे पकड़े गए मुख्‍य हत्‍यारोपी

एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला का कहना है कि आरोपी इतने दिन तक पुलिस की गिरफ्त से बचते रहे उसकी एक बड़ी वजह यह थी कि ये लोग कभी अपना मोबाइल इस्तेमाल नहीं करते थे. इसी के चलते इनको कभी ट्रेस नहीं किया जा सका. लेकिन, नेपाल से सीमाई इलाकों से लौटते वक्‍त हत्‍यारोपी ने सूरत स्थित अपने घर पर एक कॉल किया था.

बस यही एक कॉल पुलिस के काम आ गई. हत्‍यारोपियों ने कॉल कर घरवालों से रुपयों का इंतजाम करने की बात कही थी. इसके बाद से इन पर नजर रखी जाने लगी थी.

यूपी एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला का कहना है कि जांच के दौरान ये पता चला है कि नागपुर से गिरफ्तार सैयद असीम अली पिछले डेढ़ साल से सूरत से गिरफ्तार आरोपियों रशीद, मोहसिन और फैज़ान के संपर्क में था. खास बात यह की इस डेढ़ साल के दौरान इन आरोपियों ने एक-दूसरे से बात करने के लिए कभी भी अपने फ़ोन का इस्तेमाल नहीं किया था.

Related News

Like Us

HEADLINES

शाहीनबाग: जानिए हाईकोर्ट ने क्या दिया आदेश, वाहनों की आवाजाही शुरू करने की मांग पर | जानिए अब तक कितने प्‍लेन बने मिसाइल का निशाना, गई कितने मासूमों की जान | NewsRedbull | गाजियाबाद: बदमाशों से लूटपाट विरोध, दिन दहाड़े महिला को... पढ़िये ख़बर }NewsRedbull | इस यूनिवर्सिटी में शुरू हुआ CAA और अनुच्छेद 370 पर जागरूकता कोर्स, जानिए डिटेल|NewsRedbull | गुजराती गर्ल दूसरों को दे रही ​जीवन, कहा: अभी जो सिचुएशन है जल्द मर सकती हूं।NewsRedbull |