फेसबुक और ट्विटर को लेकर चुनाव आयोग के 9 अहम निर्देश आप को जरूर जानना चाहिये|NewsRedbull

Picture courtesy from social media

By : News RedBull | Published On: Mar 12, 2019 |
183


फेसबुक और ट्विटर को लेकर चुनाव आयोग के 9 अहम निर्देश आप को जरूर जानना चाहिये|NewsRedbull

2019 के चुनावी महासमर का शंखनाद हो चुका है। चुनाव आयोग ने रविवार शाम को लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया और इसी के साथ देशभर में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई। चुनाव की तारीखों का ऐलान करते हुए चुनाव आयोग ने बताया कि लोकसभा चुनाव सात चरणों में होगा और पहले चरण के तहत 11 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे।

फेसबुक और ट्विटर को लेकर चुनाव आयोग के 9 अहम निर्देश आप को जरूर जानना चाहिये !

19 मई को अंतिम चरण का मतदान होगा और 23 मई को चुनाव के नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे। चुनाव आयोग ने पहली बार राजनीतिक दलों और उम्मीदवारों की सोशल मीडिया गतिविधियों को लेकर कड़े दिशा-निर्देश जारी किए हैं। चुनाव आयोग के निर्देशों के मुताबिक, फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर अकाउंट से जुड़ी ऐसी 9 बातें निर्धारित की गई हैं, जिनका पालन लोकसभा का चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों और राजनीतिक दलों को अनिवार्य तौर पर करना होगा। सोशल अकाउंट का देना होगा ब्यौरा

1:- लोकसभा का चुनाव लड़ने वाले सभी उम्मीदवारों को नामांकन दाखिल करते समय अपने फेसबुक और ट्विटर अकाउंट का विवरण चुनाव आयोग को देना होगा।

2:- राजनीतिक दलों या उम्मीदवारों की तरफ से फेसबुक या ट्विटर पर पोस्ट किए जाने वाले किसी भी राजनीतिक विज्ञापन को पूर्व-प्रमाणित कराना अनिवार्य होगा।

Image result for twitter and facebook

3:- कोई भी ऐसा राजनीतिक विज्ञापन, जो सत्यापित नहीं कराया गया है गूगल, फेसबुक, ट्विटर या यूट्यूब पर पोस्ट नहीं किया जा सकता।

4:- लोकसभा का चुनाव लड़ रहे सभी उम्मीदवारों को अपने संपूर्ण चुनाव खर्च में सोशल मीडिया विज्ञापन पर किए गए खर्चों को भी शामिल करना होगा

5:- कोई भी राजनीतिक दल या लोकसभा का चुनाव लड़ने वाला उम्मीदवार अपने प्रचार अभियान के लिए सोशल मीडिया पर सेना या सुरक्षाबलों के जवानों की तस्वीरें डिस्प्ले नहीं कर सकता।

6:- अगर कोई प्रत्याशी या राजनीतिक दल सोशल मीडिया के नियमों का किसी भी तरह से उल्लंघन करता है तो उसकी शिकायतों के लिए एक शिकायत अधिकारी नियुक्त किया गया है। व्हाट्सएप को लेकर कोई निर्देश नहीं

7:- किसी भी तरह का भड़काऊ भाषण या फेक न्यूज सोशल मीडिया पर पोस्ट नहीं की जाएगी। ऐसा करने वालों पर फेसबुक, ट्विटर और गूगल ने कार्रवाई करने का वादा किया है।

8:- राजनीतिक दलों या लोकसभा का चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की तरफ से फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर पोस्ट किए जाने वाले सभी राजनीतिक विज्ञापनों को विशेष रूप से आईटी के दिग्गजों के जरिए हाइलाइट किया जाएगा।

9:- चुनाव आयोग की तरफ से राजनीतिक दलों और लोकसभा प्रत्याशियों के लिए व्हाट्सएप से संबंधित कोई विशेष दिशानिर्देश

जारी नहीं किए गए हैं।

लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही देश में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। चुनाव आयोग ने बताया कि इस बार सभी बूथों पर वीवीपैट मशीन के जरिए मतदान कराया जाएगा

Related News

Like Us

HEADLINES

अयोध्या पुलिस ने क्यों की है सोलह हज़ार स्वयंसेवियों की तैनाती, पढ़िए ख़बर | NewsRedbull | दो बार नोबेल जीतने वाली एकमात्र महिला हैं मैरी क्यूरी, इस खोज के चलते गई थी जान |NewsRedbull | पाक में हिंदू मेडिकल छात्रा की मौत की रिपोर्ट में खुलासा, पंखे पर लटकाने से पहले...पढ़िए ख़बर |NewsRedbull | जानिये क्यों मुरीद हुए है वीवीएस लक्ष्मण कानपुर के इस चाय बेचने वाले से ! NewsRedbull | बोले गोपाल कांडा- मेरी रगों में बहता है RSS का खून |NewsRedbull |