जानिये कहाँ के गुस्साए किसान बोले: सड़ जाए लेकिन टमाटर नहीं भजेंगे पाकिस्तान |NewsRedbull

Picture courtesy from social media: DEMO PICTURE

By : News RedBull | Published On: Feb 20, 2019 |
235


जानिये कहाँ के गुस्साए किसान बोले: सड़ जाए लेकिन टमाटर नहीं भजेंगे पाकिस्तान |NewsRedbull

मध्यप्रदेश।  पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद पूरा देश गुस्से में है। झाबुआ के किसानों का आक्रोश भी पाकिस्तान के खिलाफ फूट पड़ा है।

Image result for sell-tomatoes

किसानों ने तय किया है कि अब पेटलावद के टमाटर पाकिस्तान नहीं जाएंगे। टमाटर चाहे सड़ जाएं या उन्हें फेंकना पड़े, लेकिन आतंकियों को पालने वाले देश में नहीं भेजेंगे। जिले के पेटलावद तहसील में होने वाला टमाटर पाकिस्तान में प्रसिद्ध है। हर साल बड़ी मात्रा में टमाटर पड़ोसी देश भेजते हैं।

झाबुआ मध्यप्रदेश के इस फैसले की जब मुख्यमंत्री कमल नाथ को खबर मिली तो उन्होंने इस बात की खूब सरहाना की। उन्होंन ट्वीट किया की “पुलवामा हादसे व आतंकी घटनाओं के विरोध में झाबुआ जिले के पेटलावद तहसील के किसान भाइयों द्वारा अपने मुनाफ़े की परवाह ना कर पाकिस्तान टमाटर नहीं भेजने के निर्णय को सलाम करता हूँ,देशभक्ति से भरे इस जज़्बे की प्रशंसा करता हूँ।
हर देशवासी को इनसे प्रेरणा लेना चाहिये।”

Office Of Kamal Nath@OfficeOfKNath

पुलवामा हादसे व आतंकी घटनाओं के विरोध में झाबुआ जिले के पेटलावद तहसील के किसान भाइयों द्वारा अपने मुनाफ़े की परवाह ना कर पाकिस्तान टमाटर नहीं भेजने के निर्णय को सलाम करता हूँ,देशभक्ति से भरे इस जज़्बे की प्रशंसा करता हूँ।
हर देशवासी को इनसे प्रेरणा लेना चाहिये।

5,706

3:19 PM - Feb 18, 2019

Twitter Ads info and privacy

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी ट्वीट कर के लिखा,” झाबुआ जिले के पेटलावाद इलाके के किसान भाई नुकसान उठा कर भी अपने टमाटर पाकिस्तान नहीं भेजेंगे। ये सुनकर मेरा सीना गर्व से चौड़ा कर दिया। जय जवान, जय किसान।

ShivrajSingh Chouhan@ChouhanShivraj

मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले के पेटलावद के किसान भाई नुक़सान उठा कर भी अपने टमाटर पाकिस्तान नहीं भेजेंगे यह जान कर मेरा सीना गर्व से चौड़ा हो गया।

जय जवान, जय किसान।

18K

4:30 PM - Feb 18, 2019

Twitter Ads info and privacy

3,600 people are talking about this

 

ऐसे पाकिस्तान पहुंचता है टमाटर

जानकारी के अनुसार पेटलावद का टमाटर पहले दिल्ली मंडी जाता है। यहां से पठानकोट के रास्ते पाकिस्तान भेजा जाता है। हालांकि करीब दो साल पहले भी टमाटर नहीं भेजने का निर्णय लिया था, फिर भी दिल्ली से पठानकोट के रास्ते टमाटर भेज दिया जाता था। किसानों का कहना है हमें जिस भी एजेंट को टमाटर देंगे उसे पाकिस्तान नहीं भेजने की अपील भी करेंगे।

Related News

Like Us

HEADLINES

अयोध्या पुलिस ने क्यों की है सोलह हज़ार स्वयंसेवियों की तैनाती, पढ़िए ख़बर | NewsRedbull | दो बार नोबेल जीतने वाली एकमात्र महिला हैं मैरी क्यूरी, इस खोज के चलते गई थी जान |NewsRedbull | पाक में हिंदू मेडिकल छात्रा की मौत की रिपोर्ट में खुलासा, पंखे पर लटकाने से पहले...पढ़िए ख़बर |NewsRedbull | जानिये क्यों मुरीद हुए है वीवीएस लक्ष्मण कानपुर के इस चाय बेचने वाले से ! NewsRedbull | बोले गोपाल कांडा- मेरी रगों में बहता है RSS का खून |NewsRedbull |