केरल 'लव जिहाद' केस : हादिया ने कहा-इस्लाम का पालन करुगी, पेरेंट्स ने कैद कर रखा था

हदिया ने कोर्ट में कहा कि उसे 11 महीने से गैर-कानूनी हिरासत में रखा गया है. उसने BHMS किया है लेकिन वो इंटर्नशिप नहीं कर पाई, वो इसे पूरा करना चाहती है. कोर्ट ने जब यह पूछा कि अगर सरकार खर्चा दे तो क्या आप पढ़ाई जारी रखना चाहती हैं? इस पर हादिया ने कहा, मेरे पति मेरा खर्च उठा सकते हैं. सरकारी पैसे की जरूरत नहीं है. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने हादिया को माता-पिता की हिरासत से रिहा करने का आदेश दिया. हादिया ने विभिन्न सवालों के जवाब देते हुए यह भी कहा कि मुझे अपनी आजादी चाहिए.

By : News RedBull | Published On: Nov 28, 2017 |
1404

केरल 'लव जिहाद' केस : हादिया ने कहा-इस्लाम का पालन करुगी, पेरेंट्स ने कैद कर रखा था

नई दिल्ली (28 नवंबर): केरल लव जिहाद केस के नाम से चर्चित हादिया मामले में सोमवार को एक नया मोड़ आया। कथित रूप से लव जिहाद की शिकार अखिला उर्फ़ हादिया को सुप्रीम कोर्ट ने वापस सेलम के होम्योपैथी कॉलेज भेज दिया है। आपको बता दें कि अब तक हादिय़ा केरल के वाइकोम में अपने पिता के पास रह रही थीं।  चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली तीन जजों की बेंच ने सोमवार को हादिया से बात की उसने अपने धर्म यानी इस्लाम का पालन करने की बात कही। 
उसने पति शफीन जहां के साथ जाने की भी इच्छा जताई। वरिष्ठ वकील वीवी गिरी ने हादिया के जवाब को अंग्रेजी में ट्रांसलेट कर जज को बताया. सुप्रीम कोर्ट ने हादिया से सवाल किया, आपने किस स्कूल में पढ़ाई की? आपने डॉक्टरी पेशे को कैसे चुना? आपकी भविष्य की क्या योजना है? जज ने 25 मिनट तक हदिया से बातचीत की.
हालांकि, ये बातचीत शुरू होने से पहले उसके पिता और एनआईए के वकील ने ये बार-बार कहा कि उसके दिमाग पर कट्टर ताकतों ने गहरा असर किया है. उसकी बात को स्वतंत्र इच्छा नहीं माना जा सकता।  जजों ने हादिया से उसकी पढ़ाई का ब्यौरा लिया। पूछा कि क्या वो होम्योपैथी की अपनी अधूरी इंटर्नशिप को पूरा करना चाहती है।

 हादिया ने इस पर सहमति जताई। दो घंटे से सुनवाई के बाद कोर्ट ने कहा, "हम अभी मामले से जुड़े सभी सवालों को खुला रखेंगे पर लड़की से बात करने के बाद हम चाहते हैं कि वो अपनी पढ़ाई पूरी करे." इसके बाद कोर्ट ने हादिया को तमिलनाडू के सेलम में उसके होम्योपैथी कॉलेज भेजने का आदेश दिया। 
 कोर्ट ने कहा कि कॉलेज उसके दाखिले की प्रक्रिया पूरी करे. उसे दूसरे छात्रों की तरह कमरा दिया जाए. बाकी छात्रों पर लगने वाले सारे नियम उस पर लागू होंगे. उसके वहां रहने के दौरान किसी तरह की दिक्कत होने पर कॉलेज के डीन कोर्ट को जानकारी देंगे। 
 इस तरह कोर्ट ने कई महीनों से पिता के नियंत्रण में रह रही हादिया को स्वतंत्र कर दिया. अब वो 11 महीने की इंटर्नशिप कर सकेगी. हालांकि, उसकी शादी की वैधता, पति के साथ रहने की इच्छा और उस पर कट्टरपंथ के असर जैसे तमाम पहलुओं को अभी खुला छोड़ा गया है. इन पर जनवरी के तीसरे हफ्ते में सुनवाई होगी.

Related News

Like Us

क्रिकेट स्कोर्स और भी

HEADLINES

अखिलेश ने PM मोदी को घेरा- नोटबंदी, GST से व्यापारी बेहाल, BJP झेलेगी गुजरात चुनाव में इसका असर | मानवता शर्मशार : लखनऊ में ब्लड कैंसर पीड़ित लड़की से गैंगरेप, जिससे मदद मांगी उसने भी लूटी इज्जत | होटल के कमरे में अनमैरिड कपल का रहना गलत नहीं, पढिये, अनमैरिड कपल के अधिकार | टूटने की कगार पर पहुंच गया था अनुष्का-विराट का रिश्ता, इन्होंने ने बचाया था रिश्ता | NewsRedbull | 'दंगल गर्ल' जायरा वसीम के साथ फ्लाइट में छेड़छाड़, रोते हुए अपलोड किया वीडियो |