BJP महापौर प्रत्याशी है महिला स्वाभिमान की प्रतीक, जनता कहती है रिवॉल्वर दादी और रिवाल्वर चाची ...

Picture courtesy from Social Media

By : News RedBull | Published On: Nov 13, 2017 |
454

BJP महापौर प्रत्याशी है महिला स्वाभिमान की प्रतीक, जनता कहती है रिवॉल्वर दादी और रिवाल्वर चाची ...

Image result for kanpur-bjp-mayor-candidate-pramila-pandey-with revolver
कानपुर : कानपुर नगर से बीजेपी महापौर प्रत्याशी प्रमिला पाण्डेय ने सघन जन संपर्क अभियान चला रखा है. इस अभियान में कानपुर नगरवासी बड़ी संख्या में भाग ले रहे है. कानपुर में प्रमिला पाण्डेय का चुनाव पार्टीगत होने के साथ- साथ सर्व समाज का चुनाव अभियान बनता जा रहा है. प्रमिला पिछले 25 वर्षों से भाजपा की सक्रिय कार्यकर्ता हैं। इस बीच उन्हें दो बार पार्षद बनने का भी मौका मिला। 
Image result for kanpur-bjp-mayor-candidate-pramila-pandey-with revolver
 जिले से बीजेपी की मेयर प्रत्याशी बनी प्रमिला पाण्डेय लोगों के बीच 'रिवॉल्वर दादी' और 'रिवॉल्वर चाची' के नाम से मशहूर हैं। इसके साथ ही उन्हें सांप से भी डर नहीं लगता। सांप को पकड़कर वो अपने हाथ से दूध पिलाती हैं। मुख्यमंत्री योगी उन्हें दुलार से दीदी कहकर बुलाते है.
लीक से हटकर काम करने की उनकी आदत ने पार्टी के अंदर उन्हें अलग स्थान दिलाया। वह बताती हैं कि पार्षद रहते हुए उन्हें पार्टी और समाज के कार्यों में काफी समय देना पड़ता था। जब भी वह थक कर घर लौटतीं तो उनके लिए घर पर सब कुछ तैयार मिलता। उनकी जेठानियां उनके लिए मां जैसी सेवा करती थीं। जिनकी कमी प्रमिला को आज बहुत खलती है।
Image result for kanpur-bjp-mayor-candidate-pramila-pandey-with revolver
 प्रेमिला बताती हैं कि 2007 के चुनाव के दौरान हमने पार्षद पद के लिए नामांकन किया था, उस वक्त हम पांचों देवरानियों के साथ प्रचार को निकलती थीं। जिसकी नजर पड़ती चो यही कहता कि पांडेय परिवार जैसी एकता आज के दौर में कहीं देखने को नहीं मिलती। यह बात बताते हुए उनकी आंखों में आंसू भी आ गए। 

61 साल की हैं ये 'रिवॉल्वर दादी', सांप को अपने हाथ से पिलाती हैं दूध
प्रमिला पाण्डेय कहती हैं कि हां मैं असहले रखती हूं, लेकिन वो अपनी सुरक्षा के लिए नहीं, बल्कि गरीबों के लिए। जब कोई अफसर ठीक तरह से काम नहीं करता तो उसे डराने के लिए पिस्टल दिखानी पड़ती है। प्रमिला ने बताया कि इसका उन्होंने कभी इस्तेमाल तो नहीं किया, लेकिन रिवॉल्वर साथ लेकर चलने से वह लोगों और पार्टी के बीच और भी चर्चित हो गईं। लोगों के काम को लेकर उन्होंने कई बार विभागीय अधिकारियों से भी भिड़ने में गुरेज नहीं किया।
Image result for kanpur-bjp-mayor-candidate-pramila-pandey-with revolver
 प्रमिला पाण्डेय मूल रूप से जौनपुर की रहने वाली है, लेकिन उनकी कर्मभूमि कानपुर ही रही। पति रजिस्ट्रार ऑफिस से रिटायर्ड हैं।  12वीं तक पढ़ी प्रमिला लम्बे समय तक RSS से जुड़ी रहीं। इसके बाद सिविल लाइन्स वार्ड 52 से दो बार पार्षद चुनी गईं। महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष भी रह चुकी हैं। बीजेपी के किसी भी प्रदर्शन में वो हमेशा अपनी स्कूटी पर पार्टी के चार झंडे लगाकर सबसे आगे रहती हैं। 
प्रमिला पाण्डेय ने बताया कि सपा सरकार के दौरान पुलिस-प्रशासन में बैठे अफसर गरीबों की फरियाद नहीं सुनते थे। फरियादी उनके पास आते तो हम कमर में पिस्टल लगाकर उनके साथ अफसर के पास पहुंच जाती थीं ओर समस्या का निराकरण के लिए कहती। 2016 में नजरीबाद थानेदार ने जब इनकी शिकायत पर अमल नहीं किया तो प्रमिला ने कमर से पिस्टल हाथ में निकाल लिया। थानेदार डर के चलते इनकी बात सुनी और आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया।

Related News

Like Us

क्रिकेट स्कोर्स और भी

HEADLINES

ताजमहल के पास मल्टीलेवल पार्किंग को लेकर योगी सरकार को राहत नहीं | BREAKING: शिवराज का ऐलान- पद्मावती राष्ट्रमाता, मध्‍य प्रदेश में नहीं दिखाई जाएगी पद्मावती फिल्‍म | कौन है PM मोदी के साथ बैठी ये महिला, जिसे विदेश दौरे पर साथ ले जाना नहीं भूलते PM, पढ़िए | कानपुर महापौर चुनाव : अपार जन समर्थन से जीत की राह निश्चित करने में लगीं प्रमिला पाण्डेय | अयोध्या: UP ATS पहुंची पूछताछ के लिए, रात 2 बजे विवादित परिसर के पास से 8 मुस्लिम युवक पुलिस की गिरफ्त में |