निकाय चुनाव में हार से साफ हो जाएगा BJP की सत्ता से बेदखली का रास्ता- अखिलेश यादव

Picture courtesy from Social Media

By : News RedBull | Published On: Nov 13, 2017 |
501

निकाय चुनाव में हार से साफ हो जाएगा BJP की सत्ता से बेदखली का रास्ता- अखिलेश यादव

लखनऊ: यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश के आगामी नगरीय निकाय चुनावों में भाजपा की पराजय से ही वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में इस पार्टी को केन्द्र की सत्ता से बाहर करने का रास्ता साफ होगा. प्रदेश की सियासत में भगवान राम के बाद अब श्रीकृष्ण का भी पदार्पण हो गया है. मुस्लिम-यादव समीकरण के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि झगड़ा कराने में, नफरत फैलाने में भाजपा के लोग होशियार बहुत होते हैं और उनसे बेहतर 'दो फाड़' कोई नहीं कर सकता है, चाहे वह परिवार में या फिर किसी राजनीतिक दल में. 
आप बंगाल देख लो, गुजरात देख लो या फिर यूपी को ही ले लो, ऐसे अनेक उदाहरण आपको मिल जाएंगे. हिंदू-मुस्लिम या जाति के नाम पर अलगाव विभाजन उनसे (भाजपा) बेहतर कौन कर सकता है. 
इटावा में लगने वाली कृष्ण मूर्ति की खबर के बाद उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को कहा कि भगवान राम और कृष्ण हमारे भी हैं. उन्होंने भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि यूपी सरकार समाजवादियों के काम का उद्घाटन कर रही है. बीते आठ माह में प्रदेश की भाजपा सरकार ने कोई काम नहीं किया है.  लखनऊ के एक होटल में शनिवार को एक मीडिया हाउस द्वारा 'तरक्की का नया नजरिया विजन 2022' विषय पर आयोजित समागम में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि हमने भगवान राम की कृपा से ही आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन किया था. 
मैंने कभी उद्घाटन नहीं किया. सपा के कार्यकाल में किए गए कार्यों का ही सरकार फिर से उद्घाटन कर रही है. अगर इस सरकार ने प्रदेश के लिए कुछ नया काम किया हो तो उन्हें जनता को बताना चाहिए.

उन्होंने कहा कि इस जीत से देश-प्रदेश में स्वच्छ और नैतिक राजनीति को बल मिलेगा. विघटनकारी ताकतों को स्थानीय निकाय चुनावों में पराजित करने से ही वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को केन्द्र की सत्ता से बाहर करने का मार्ग प्रशस्त होगा. आगे उन्होंने कहा कि नगर निकाय चुनावों के परिणाम 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए संकेत होंगे. इन चुनाव परिणामों से अगले वर्ष में राजनीति की दिशा का निर्धारण भी होगा.  
प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्ववर्ती सपा सरकार ने पांच सालों के अपने कार्यकाल में शहरों और गांवों के विकास की संतुलित योजनाएं लागू की थीं. उस सरकार की उपलब्धियों के सामने भाजपा की सात माह पुरानी योगी सरकार ने एक भी काम ऐसा नहीं किया जिसका उल्लेख किया जा सके. साथ ही अखिलेश ने कहा कि जनता की निगाह में समाजवादी सरकार का काम बोलता है. इसलिए स्थानीय निकाय के चुनावों में सपा जनता के भरोसे अपनी जीत के लिए आश्वस्त है.

Related News

Like Us

क्रिकेट स्कोर्स और भी

HEADLINES

ताजमहल के पास मल्टीलेवल पार्किंग को लेकर योगी सरकार को राहत नहीं | BREAKING: शिवराज का ऐलान- पद्मावती राष्ट्रमाता, मध्‍य प्रदेश में नहीं दिखाई जाएगी पद्मावती फिल्‍म | कौन है PM मोदी के साथ बैठी ये महिला, जिसे विदेश दौरे पर साथ ले जाना नहीं भूलते PM, पढ़िए | कानपुर महापौर चुनाव : अपार जन समर्थन से जीत की राह निश्चित करने में लगीं प्रमिला पाण्डेय | अयोध्या: UP ATS पहुंची पूछताछ के लिए, रात 2 बजे विवादित परिसर के पास से 8 मुस्लिम युवक पुलिस की गिरफ्त में |