पद्मावती प्रकरण : हिम्मत है तो किसी और धर्म के बारे में फिल्म बनाकर देखे भंसाली- गिरिराज सिंह

Picture courtesy from Social Media

By : News RedBull | Published On: Nov 10, 2017 |
451

पद्मावती प्रकरण : हिम्मत है तो किसी और धर्म के बारे में फिल्म बनाकर देखे भंसाली-  गिरिराज सिंह

नई दिल्ली  : 1 दिसंबर को रिलीज होने वाली निर्माता-निर्देशक संजयलीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर शुरू हुआ विवाद लगातार तूल पकड़ता नजर आ रहा है। अब इस विवाद में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह भी कूद पड़े हैं। गिरिराज ने कहा कि संजय लीला भंसाली और बॉलीवुड के किसी भी फिल्मकार में हिम्मत नहीं कि वह किसी और धर्म पर अधारित फिल्म बनाए या उनपर टिप्पणी करें। उन्होंने आगे कहा 'वे हिंदू गुरुओं, भगवान और योद्धाओं पर आधारित फिल्में ही बनाते हैं और हम अब इसे और बर्दाशत नहीं कर सकते।' 

Image result for padmawati movie

बता दें कि इससे पहले केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने फिल्म पद्मावती को लेकर खुला खत जारी किया था। उन्होंने खत में फिल्म मेकर की अभिव्यक्ति की आजादी का समर्थन किया था और ये भी कहा था कि इसकी कहीं तो एक सीमा होती है। अलाउद्दीन खिलजी एक व्यभिचारी हमलावर था। उसकी बुरी नजर रानी पद्मावती पर थी, जिसके कारण उसने चित्तौड़ नष्ट कर दिया। मर्यादा के उल्लंघन की निंदा स्वाभाविक बताते हुए उन्होंने फिल्म की प्री-स्क्रीनिंग की मांग कर डाली है, जिससे रिलीज से पहले विवाद हल हो सके। उमा भारती ने खत में कहा कि रानी पद्मावती के विषय पर मैं तटस्थ नहीं रह सकती। मेरा निवेदन है कि पद्मावती को राजपूत समाज से न जोड़कर भारतीय नारी के अस्मिता से जोड़ा जाए। 

Image result for padmawati movie

Image result for padmawati movie
उन्होंने ट्विटर पर सुझाव भी दिया है क्यों न रिलीज से पहले इतिहासकार, फिल्मकार और आपत्ति करने वाला समुदाय के प्रतिनिधि और सेंसर बोर्ड मिलकर कमेटी बनाए और वो इस पर रिलीज से पहले फैसला करे। उन्होंने खत में उल्लेख किया है कि खिलजी के कारण राणा रतन सिंह सहित कई वीर शहीद हुए और रानी ने शहीद पत्नियों के साथ खुद को जीवित आग के हवाले कर जौहर किया।  उमा भारती ने खत में सवाल उठाया है कि उन्होंने फिल्म नहीं देखी है, लेकिन लोगों के मन में आशंकाओं का जन्म क्यों हो रहा है? उन्होंने कहा है कि इन आशंकाओं का लुत्फ मत उठाइए और वोट बैंक भी मत बनाइए। कोई रास्ता निकालकर बात समाप्त कर दें। 

Related News

Like Us

क्रिकेट स्कोर्स और भी

HEADLINES

हाईकोर्ट ने PMO पर लगाया 5000 रुपये का हर्जाना, पढ़िए पूरा मामला | NewsRedbull | 'गुंडों' सरेंडर करो या गोली खाओ की CM योगी की मुहीम को झटका, मुठभेड़ में मासूम की मौत | NewsRedbull | लखनऊ: रेयान इंटरनेशनल स्कूल जैसी घटना, छात्र को टॉयलेट में बंधक बनाकर चाकू से किए ताबड़तोड़ वार NewsRedbull | वाराणसी विकास प्राधिकरण है सूरदास: संवेदनशील काशी विश्वनाथ मंदिर के पास 7000 फीट का अवैध 'अंडरग्राउंड निर्माण' | NewsRedbull | KANPUR : 100 करोड़ के पुराने नोट मिलने से सनसनी | NewsRedbull |